Breaking News

इस अभिनेत्री ने इस टिप्स के जरिये किया 96 किलोग्राम से 50 किलोग्राम अपना वजन ,जानिए हकीकत


साथियो आप सभी तो जानते ही हो की बॉलीवुड हो या हॉलीवुड सभी अपनी फिटनेस को लेकर बहुत ही ज्यादा एक्टिव रहते है और सबसे ज्यादा टाइम वो अपनी हेल्थ बनाने मे लगते है और सभी एक्टर्स अपनी फिटनेस का राज भी खोलते है वो नए नए तरिके बताते है जिसका प्रयोग करके आप भी अपनी फिटनेस बना सकते है |




साथियो आप सभी ने सारा अली खान का नाम तो उसने ही होगा ,तो दोस्तों हम आपको आपको बता दे की  सारा अली खान अपनी हेल्थ पर बहुत ही ज्यादा वर्क करती है और वो अपनी बॉडी पर वर्क करती रही और वो दिन आ ही गया जिस दिन की उन्हें आस थी दोस्तों सारा अली खाल बहुत टाइम पहले 96 किलोग्राम वाली अभिनेत्री थी लेकिन अब उन्हें अपनी वजन 50 किलोग्राम कर लिए तो सारा अली ने बताया की उन्होंने बहुत ही ज्यादा फोकस किया है



सारा अली खान का कहना है कि वजन घटाना के लिए उन्होंने काफी मेहनत की है। वह बैलेंस डाइट लेने के साथ ही एक्सरसाइज और जिम को भी काफी सीरियस लेती थी। सारा अली खान ने फास्ट फूड खाना एकदम बंद कर दिया था। वह जिम को अपनी रेगुलर हैबिट में लेकर आईं। इतना ही नहीं, रिपोर्ट्स तो यहां तक कहती है कि योग और कत्थक डांस ने भी उनका वजन कम करने में महत्वूर्ण भूमिका निभाई है। सारा सैफ और उनकी पहली पत्नी अमृता सिंह की बेटी हैं। एक शो के दौरान सैफ ने कहा कि सारा अली खान को पिज्जा बहुत पसंद है और वह बचपन में इसे बहुत खाती थी।   उन्होंने यह भी बताया कि बचपन में उनके मोटापे का बड़ा कारण PCOD (एक तरह की बीमारी)  थी।

वजन कम करने वाले योगासन

भुजंगासन भी बाजुओं को मजबूत बनाता है और बाजुओं व इनके नीचे लटकी अतिरिक्त चर्बी को भी कम करता है। भुजंगासन के अभ्यास से पेट की चर्बी भी कम होती है और रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है। भुजंगासन को करने के लिए सबसे पहले पेट के बल सीधे लेट जाएं और फिर दोनों हाथों को माथे के नीचे टिका लें। इसके बाद दोनों पैरों के पंजों को एक साथ रखें और माथे को सामने की तरफ उठाएं और दोनों भुजाओं को कंधों के समानांतर ले आएं। इस स्थिति में शरीर का भार बाजुओं पर आ जाएगा। फिर शरीर के आगे वाले हिस्से को बाजुओं के बल उठाएं और लंबी सांस लेते हुए शरीर को स्ट्रेच करें।

नियमित सूर्य नमस्कार करने से बाजुएं मजबूत बनती हैं और उन पर मौजूद अतिरिक्त चर्बी भी कम होती है। सूर्य नमस्कार का अभ्यास बाजुओं के ल‌िए किसी स्ट्रेंथ ट्रेनिंग एक्सरसाइज से कम नहीं होता है। सूर्य नमस्कार से न सिर्फ बाजिएं सुडोल होती हैं बल्कि शरीर मजबूत बनाता है और प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाती है।
शलाभासन के लिए सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। अब अपने हाथों को पोट से सटाते हुए हथोलियों से जमीन को टच करते रहें।

इस दौरान गहरी सांस लें। अपने पैरों को एक-एक करके ऊपर उठाएं और तिरछी अवस्था में रखें। थोड़ी देर के बाद अपनी सामान्य अवस्था में आ जाएं और फिर दोहराएं। इस आसन को करने से जांघों की मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है, जिससे जांघों व हिप्स की चर्बी कम होने लगती है।

वीरभद्रासन करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों पैरों पर सीधे खड़े हो जाएं। पैरों के बीच कम से कम 3 से 4 फीट की दूरी रहे। अब अपने बाएं पैर को सीधा रखें, इसे हल्का बाएं ओर ही घुमाएं। दाएं पैर को थोड़ा आगे बढ़ाएं। इसके बाद दोनों पैरों को थोड़ा मोड़ें। अपने हाथों को नमस्‍ते का आकार देते हुए ऊपर की ओर रखें। थोड़ी देर इसी मुद्रा में रहें।

ग्रीन कॉफी और वजन नियंत्र



हाल ही में आए शोधों के मुताबिक नई ग्रीन कॉफी ईजाद की गई है। इतना ही नहीं ग्रीन कॉफी को लेकर शोधकर्ताओं का कहना है कि यदि सुबह-सुबह खाली पेट यानी नाश्ते से पहले ग्रीन कॉफी का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो आप आसानी से अपना वजन कम कर सकते हैं। शोधों के मुताबिक, यदि आप अपने वजन से बहुत परेशान हैं लेकिन आप डायट चार्ट भी फॉलो नहीं करना चाहते तो आपको ग्रीन कॉफी का सेवन करना चाहिए।

ग्रीन कॉफी का सबसे बड़ा फायदा है कि आप एक महीने में ही लगभग 2 किलोग्राम वजन आसानी से कम कर सकते हैं। इसके लिए आपको कोई अतिरिक्त मेहनत भी नहीं करनी होगी।यदि आप नियमित रूप से ग्रीन कॉफी यानी हरी चाय का सेवन करते हैं तो ग्रीन कॉफी में मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड आपकी आहार नली में शुगर की मात्रा को कम कर देता है। इसके साथ ही ग्रीन कॉफी से आपके फैट के खत्म होने के प्रक्रिया एकदम तेज हो जाती है।

No comments